• 07:42 am
news-details
दुनिया

3 महीने पहले बोत्सवाना में मरने वाले 350 हाथियों की रहस्यमयी मौत का कारण पता चल गया है

3 महीने पहले हाथियों के गढ़ माने जाने वाले दक्षिण अफ्रीका के बोत्सवाना में 350 से अधिक हाथियों की मौत की ख़बर आई थी. उस समय किसी को नहीं पता कि इतनी बड़ी संख्या में हाथियों की मौत का कारण क्या है.

मगर अब इन हाथियों की मौत का कारण पता चल गया है. बताया जा रहा है कि पानी में मौजूद साइनोबैक्टीरिया के कारण हाथियों की मौत हुई. 2 जुलाई के आसपास बोत्सवाना के जंगलों में सैकड़ों हाथियों की लाशें देखने को मिली थीं, जिसके बाद से ही बोत्सवाना की सरकार हाथियों की रहस्यमयी मौत का पता लगाने में जुट गई थी.

जुलाई महीने में हाथियों की सैटेलाइट तस्वीरें सामने आई थीं, जिनमें जंगल में चारों तरफ हाथियों की लाशें ही लाशें देखी गई थी. ध्यान देने वाली बात यह है कि हाथियों की इस रहस्यमयी मौत का पहला मामला मई में सामने आया था. आगे यह सिलसिला चलता रहा और जून के अंत तक हाथियों की मौत का आंकड़ा 350 को पार कर गया था.

डिपार्टमेंट ऑफ वाइल्डलाइफ एंड नेशनल पार्क के डिप्टी डायरेक्टर सिरिल ताओलो के मुताबिक उत्तरी बोत्सवाना और उसके ओकावैंगो डेल्टा में 350 से ज्यादा हाथियों के सड़े-गले शव बिखरे थे. हाथी की पहली रहस्यमयी मौत मई महीने में हुई थी. उसके बाद कुछ दिनों के अंदर ओकवैंगो डेल्टा में 169 हाथी मर गए. जून के मध्य तक हाथियों के मरने की संख्या लगभग दोगुनी हो गई. इनमें से 70 फीसदी हाथियों की मौत जलस्रोतों के आसपास हुई थी.   

सिरिल ने बताया कि जांच में पता चला है कि पानी में साइनोबैक्टीरिया थे. जिनकी वजह से पैदा हुए जहर से हाथियों की मौत हुई है. कारण कुछ भी हो मगर, इस तरह से हाथियों का मरना चिंताजनक है.

You can share this post!

Comments

Leave Comments