• 03:34 pm
news-details
चुनाव

क्या आप जानते है ? मोदी के इस मंत्री के बारे में, 7 क्रिमिनल रिकार्ड्स के साथ बने सांसद ...

प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी  (PM Narendra Modi)  दूसरी बार शपथ ले चुके हैं. भव्य समारोह में पीएम मोदी व उनके मंत्रिमंडल के 57 सदस्यों को पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई गई. पीएम की नई कैबिनेट में जिस शख़्स के नाम की खूब चर्चा है, वो हैं ओडिशा के सांसद प्रताप चंद्र सारंगी (Pratap Chandra Sarangi). ओडिशा के 'मोदी' के नाम से ख्यात प्रताप चंद्र सारंगी ने जब शपथ ली तो तालियों की गड़गड़ाहट से राष्ट्रपति भवन परिसर गूंज पड़ा. अपनी सादगी के लिए जाने जाने वाले सारंगी की पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी तालियों से हौंसलाफजाई की. हालांकि प्रताप चंद्र सारंगी का नाम कई आपराधिक मामलों में आ चुका है.  
साइकिल पर चलने वाले प्रताप चंद्र सारंगी बने मोदी सरकार में राज्यमंत्री, अमित शाह ने भी खूब बजाईं तालियां...

चुनाव सुधारों पर नजर रखने वाली संस्था नेशनल इलेक्शन वॉच और एडीआर (एसोसिएशन फॉर ड्रेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स) के मुताबिक सारंगी के खिलाफ धार्मिक भावनाएं भड़काने, वैमनस्य पैदा करने समेत अन्य धाराओं में कुल  7 मामले दर्ज हैं. आपको बता दें कि प्रताप चंद्र सारंगी को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय में राज्य मंत्री; और पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्रालय में राज्य मंत्री की जिम्मेदारी दी गई है. विश्लेषण के मुताबिक सारंगी पर जो 7 मामले दर्ज हैं, उनमें 7 गंभीर धाराएं हैं, जबकि 15 अन्य धाराएं लगाई गई हैं. प्रताप चंद्र सारंगी के अलावा इसी तरह के मामलों में बेगूसराय से चुनाव जीते गिरिराज सिंह पर 6, बीजेपी अध्यक्ष और गृह मंत्री बनाए गए अमित शाह पर 4, बाबुल सुप्रियो पर 4, नित्यानंद राय पर 4 और प्रहलाद जोशी पर एक केस दर्ज है. इसके अलावा चुनाव से जुड़े मामलों में भी गिरिराज सिंह के उपर 6 मामले दर्ज हैं. जबकि नितिन गडकरी पर 4 और अश्विनी कुमार चौबे पर 3 मामले दर्ज हैं.  

मोदी सरकार में इस बार सबसे ज्यादा यूपी के चेहरे, जानें आपके राज्य से मंत्रिमंडल में कितने चेहरे हैं शामिल

कौन हैं प्रताप चंद्र सारंगी 
64 वर्षीय प्रताप चंद्र सारंगी (Pratap Chandra Sarangi) को मोदी कैबिनेट का सबसे गरीब मंत्री कहा जा रहा है. वे अपनी सादगी के लिए जाने जाते हैं. कहा जाता है कि सारंगी ने कभी साधु बनना चाहा था और वह एकांत जीवन बिताना चाहते थे लेकिन उनका समाज के प्रति समर्पण और जनसेवा का भाव उनको मोदी मंत्रिमंडल में ले आया. सारंगी लंबे समय तक आरएसएस से जुड़े रहे हैं और इस बार के लोकसभा चुनाव में उन्होंने बालासोर संसदीय सीट से बीजद प्रत्याशी रबींद्र कुमार जेना को 12,956 मतों से हरा दिया. बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य सारंगी को ओडिशा का मोदी भी कहा जाता है. वह दो बार ओडिशा विधानसभा के लिए चुने जा चुके हैं.  प्रताप चंद्र सारंगी (Pratap Chandra Sarangi) अक्सर साइकिल से चलते हुए देखे जा सकते हैं. चुनाव प्रचार में जनता से जुड़ने के लिए उन्होंने एक ऑटो रिक्शा भी किराए पर लिया था. 

You can share this post!

Comments

Leave Comments