• 08:02 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

दिग्विजय चौटाला ने दिये गठबंधन तोडऩे के संकेत!

क्या पत्ते पर पानी की तरह चल रही है हरियाणा सरकार?
पलवल। पानीपत के इसराना में 13 मार्च को डॉ. अजय सिंह चौटाला के जन्मदिन पर होने वाली जजपा की रैली का न्यौता देने पलवल पहुंचे जजपा और इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला आज बुजुर्गों की बुढ़ापा पैंशन 5100 रुपये देने के वायदे को लेकर काफी गंभीर दिखाई दिये। 
उन्होने यहां तक कह दिया कि यदि जजपा की 50 सीटें विधानसभा में आती तो पहली कलम से दुष्यंत के हाथों बुढ़ापा पेंशन 5100 रुपये होती आज सत्ता में जजपा की 10 सीट लेकर 20 प्रतिशत की भागेदारी है यदि हमें 5100 रुपये बुढ़ापा पेंशन के लिये राज भी छोडऩा पड़े तो हम पीछे नहीं हटेंगे क्योंकि हम बुजुर्गों के चेहरों पर मुस्कान देखना चाहते हैं और हरियाणा के लोगों को नौकरियों में भी 75 प्रतिशत की हिस्सेदारी होगी। 
पलवल में जजपा के कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष  ने गठबंधन सरकार में किये गये जजपा के वायदों को खूब गिनाया उन्होने कहा कि हरियाणा के लोगों को नौकरियों में भी 75 प्रतिशत की हिस्सेदारी होगी। जल्द ही यह बिल विधानसभा में पास होगा। आज बुजुर्गों को अपनी पेंशन को लेकर नाराज होने की जरूरत नहीं है क्योंकी जब गठबंधन हो रहा था तो दुष्यंत ने अमित शाह के सामने दो ही प्रमुख मांग रखी थी हरियाणा के लोगों को नौकरियों में  75 प्रतिशत की हिस्सेदारी मिले और बुजुर्गों को प्रतिमाह 5100 रुपये दी जाये जिस पर शाह ने कहा था की वो एक बार में तो 5100 रुपये बुढ़ापा पेंशन नहीं कर सकते लेकिन पांच सालों में आपके वायदे को जरूर पूरा करेंगे और यदि बुढ़ापा पेंशन 5100 रुपये नहीं की गई तो फिर वो राज छोडऩे में भी पीछे नहीं हटेंगे यानि  दिग्विजय सिंह चौटाला ने सरकार का पांचवें साल की शुरूवात में पेंशन 5100 नहीं होने पर गढ़बंधन तोडऩे के संकेत दिये।  वहीं उन्होने गांव के लोगों से कहा कि आज पंचायत का मंत्रालय दुष्यंत के पास है आप विकास के लिये ग्रांट मांगने वाले बनें और अपनी पंचायत का एस्टीमेट दुष्यंत के पास भेजें आपके मांगने में कमी आ सकती है लेकिन दुष्यंत ग्रांट भेजने में दुष्यंत कोई कमी नहीं छोड़ेंगे। उन्होने पार्टी को मजबूत करने का आव्हान  करते हुए अपने नेताओं से कहा कि वो पंचायत चुनाव, जिला परिषद चुनाव में अपने लोगों को चुनाव लड़वायें ताकि ज्यादा से ज्यादा सरपंच जजपा के बनें और हम पंचायतों और जिला परिषद के द्वारा ज्यादा से ज्यादा गावों का विकास कर सकें। 
उन्होने कहा कि संगठन मजबूत करने को लेकर दुष्यंत चौटाला निरंतर इस लडाई को लड़ रहे हैं। यदि हम 10 महीने में 10 सीटें जीत सकते हैं तो आने वाले 50 महीनों में 50 सीटें भी जीतेंगे और एक दिन वह दिन भी आयेगा जब दिल्ली के लालकिले पर चौधरी देवीलाल का ध्वज फहराया जायेगा। उन्होने कहा कि सरकार में रहते हुए पिछले कुछ दिनों में कार्यकर्ताओं में सुस्ती सी आ गई है कई बार राज में आने से संगठन कमजोर पड़ जाता है इसी लिये संगठन को मजबूत करने के लिये 13 मार्च को डॉ. अजय सिंह चौटाला के जन्मदिन पर  पानीपत के इसराना में जजपा की रैली रखी गई है जिसमें पलवल जिले के लोगों की ज्यादा से ज्यादा भागेदारी होनी चाहिये।
 इस मौके पर जजपा के राष्ट्रीय महासचिव पूर्व मंत्री हर्ष कुमार, प्रदेश अध्यक्ष सरदार निशान सिंह, जजपा जिलाध्यक्ष सुरेंद्र सौरोत, वरिष्ठ नेता पंडित भूदेव शर्मा सहित जजपा के तमाम कार्यकर्ता मौजूद थे।

You can share this post!

Comments

Leave Comments