• 05:22 pm
news-details
चुनाव

चुनावी दंगल : BJP के उम्मीदवारो के साथ,कांग्रेस-AAP की उलझन जारी

 

कांग्रेस से गठजोड़ पर छाई धुंध के बीच AAP ने कहा है कि सोमवार को हमारे 6 उम्मीदवार नामांकन करेंगे। इस बीच बीजेपी ने लंबे इंतजार के बाद रविवार शाम बीजेपी ने दिल्ली की सात में से चार लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया। इन चारों सीटों पर बीजेपी ने अपने वर्तमान सांसदों पर भरोसा जताया है। वेस्ट दिल्ली से प्रवेश वर्मा, साउथ दिल्ली से रमेश बिधूड़ी, चांदनी चौक से डॉ. हर्षवर्धन और नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली से प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी को टिकट देकर दोबारा मैदान में उतारा गया है। डॉ. हर्षवर्धन, प्रवेश वर्मा और मनोज तिवारी सोमवार को नामांकन दाखिल करेंगे। रमेश बिधूड़ी मंगलवार को नॉमिनेशन फाइल करेंगे। नामांकन सिर्फ मंगलवार तक होने हैं और कांग्रेस ने न तो गठजोड़ पर बात की और न प्रत्याशियों की घोषणा ही की। 

रविवार सुबह ही यह लगभग तय हो गया था कि पार्टी इन चारों उम्मीदवारों के नामों पर मुहर लगा चुकी है। यही वजह थी कि लिस्ट आने से पहले ही ये उम्मीदवार शुभ मुहूर्त निकलवाकर नामांकन दाखिल करने का अपना प्रोग्राम तय कर चुके थे। हालांकि पार्टी की ओर से नाम की घोषणा का इंतजार उन्हें भी था। शाम को लिस्ट आने के बाद ही इन उम्मीदवारों ने नामांकन का अपना प्रोग्राम अनाउंस किया। 

डॉ. हर्षवर्धन के नामांकन में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और बीजेपी के वरिष्ठ नेता मुख्तार अब्बास नकवी मौजूद रहेंगे। प्रवेश वर्मा सुबह अपने कार्यालय में हवन करने के बाद रोड शो करते हुए राजौरी गार्डन स्थित डीएम ऑफिस पहुंचेंगे। प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के साथ भी नामांकन दाखिल करने के दौरान केंद्रीय मंत्री विजय गोयल के अलावा पार्टी के कुछ दूसरे सीनियर नेता मौजूद रहेंगे। 
चारों वर्तमान सांसदों को दोबारा टिकट देकर पार्टी ने यह भी स्पष्ट करने की कोशिश की है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन होने या न होने से वह ज्यादा चिंतित नहीं है और उसे अपनी जीत पर भरोसा है। इसके अलावा, इन सीटों पर जातिगत समीकरण भी इन उम्मीदवारों के पक्ष में थे। रमेश बिधूड़ी का नाम पिछली बार सबसे आखिर में अनाउंस हुआ था, मगर इस बार पहली ही लिस्ट में उनका नाम अनाउंस करके पार्टी ने उनकी लीडरशिप में भी भरोसा जताया है। खास बात यह है कि कुछ महीने पहले बिधूड़ी को पूर्वांचली विरोधी बताकर उनका टिकट कटवाने की भरपूर कोशिशें हुई थीं, लेकिन वह पार्टी को यह विश्वास दिलाने में कामयाब रहे कि ये सब उनके खिलाफ रची जा रही एक साजिश मात्र है। प्रवेश वर्मा के रवैये को लेकर भी कई सवाल उठाए जा रहे थे और उन्हें चीजों को सुधारने का मौका भी दिया गया था। उन्हें टिकट मिलना इस बात का संकेत है कि वह पार्टी की उम्मीदों पर खरे उतरे। डॉ. हर्षवर्धन ने पहले ही साफ कर दिया था कि वह चांदनी चौक से ही चुनाव लड़ेंगे।

मनोज तिवारी के नेतृत्व को लेकर भले ही पार्टी के कई नेता सवाल उठाते हों, लेकिन स्टार कैंपेनर की छवि और उनका पूर्वांचली होना उनके लिए सबसे बड़ा प्लस पॉइंट रहा। 
बीजेपी ने ईस्ट दिल्ली, नॉर्थ-वेस्ट और नई दिल्ली लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों का नाम क्लियर नहीं किया है। इन तीन सीटों पर सस्पेंस बनाए रखने के पीछे कई कारण बताए जा रहे हैं। जैसे नॉर्थ-वेस्ट दिल्ली से बीजेपी को अपने वर्तमान सांसद डॉ. उदित राज का कोई दमदार विकल्प नहीं मिल पा रहा है तो ईस्ट दिल्ली से पार्टी के समीकरणों पर कोई फिट नहीं बैठ पा रहा है, इसलिए अभी किसी उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं किया गया है। नई दिल्ली सीट पर शुरू से ही कहा जा रहा है कि पार्टी कोई चौंकाने वाला नाम ला सकती है। यहां पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर से लेकर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू और प्रदेश महामंत्री राजेश भाटिया और रवींद्र गुप्ता के नाम चल रहे हैं। मीनाक्षी लेखी को रिपीट किए जाने की संभावनाएं भी खत्म नहीं हुई है। कहा यह भी जा रहा है कि कांग्रेस और ‘आप’ के बीच गठबंधन की बचीखुची संभावनाओं को देखते हुए बीजेपी ने तीन सीटों पर अभी उम्मीदवारों का ऐलान नहीं किया है। 
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments