• 12:57 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

कांग्रेस ने 17 मौजूदा विधायकों में से 15 की टिकटों पर लगाई मुहर, तकरीबन 50 सीटों के उम्मीदवार फाइनल , 29 तक आयेगी सूची

 भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार कांग्रेस ने हरियाणा की 90 में से 50 विधान सभा सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों के चयन का काम निपटा लिया है । काफी खींचतान के बाद किसी तरह उम्मीदवार चुनने का काम शांतिपूर्वक ढ़ंग से निपट गया है । अब लगभग 40 सीटों के उम्मीदवारों के चयन का काम बाकी रह गया है। खबर है कि कांग्रेस 29 अक्तूबर को 50 से 60 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर देगी। गौरतलब है कि 30 सितंबर से नामांकन की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी जो चार अक्तूबर तक चलेगी। पांच अक्तूबर को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी होगी और सात अक्तूबर तक नाम वापिस लिए जा सकेंगे । मतदान 21 अक्तूबर को होगा। जिन 50 सीटों पर कांग्रेस के प्रत्याशियों के नाम फाइनल हो चुके हैं , उन पर पुराने और बड़े कांग्रेसी नेताओं के सामने टिकटों के दावेदार खास मजबूत नहीं हैं । इस कारण इन सीटों पर टिकटें तय करने में खास समस्या आड़े नहीं आई । सत्रह मौजूदा विधायकों में से पंद्रह के फिर से टिकट देने का फैसला लिया गया है । शेष बचे दो विधायकों के बारे में अभी तय नहीं है कि उनकी टिकटें कटेंगी या नहीं। यहां यह उल्लेख करना जरूरी है कि बाकी बची 40 सीटों पर प्रत्याशियों का चयन काफी टेढ़ी खीर साबित होगा , क्योंकि इन सीटों पर सभी कांग्रेसी दिग्गज अपने अपने समर्थकों को ज्यादा से ज्यादा टिकटें दिलाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाएंगे। विधानसभा में विपक्ष के नेता पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा , कांग्रेस की नव नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा , पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर, पूर्व मुख्य मंत्री बंशीलाल की पुत्रवधू व पूर्व मंत्री किरण चौधरी और पूर्व मुख्यमंत्री भजनलाल की विरासत के उत्तराधिकारी कुलदीप बिश्नोई के बीच टिकटों को लेकर तगड़ी खींचतान होने की संभावना है।
सूत्रों के अनुसार लगभग एक दर्जन सीटों पर कांग्रेस में विद्रोह की स्थिति बनी हुई है। हालांकि आधे से ज्यादा सीटों पर उम्मीदवारों के नाम फाइनल हो चुकॉ हैं, लेकिन गिनती कं चार पांच उम्मीदवार ही अभी तक चुनाव प्रचार में उतरे हैं । शेष अभी भी असमंजस में हैं कि कहीं अखिरी मौके पर उनकी टिकट न कट जाए। इस दुविधा के कारण अभी तक कांग्रेस का प्रचार नहीं पकड़ पा रहा। जबकि सत्तारूढ़ बीजेपी का प्रचार  शबाब पर दिखाई दे रहा है। कांग्रेस के फाइनल हो चुके संभावित प्रत्याशियों की सूची में कई बड़े दिग्गज कांग्रेसियों के नाम शामिल हैं । इनमें रोहतक जिले के किलोई हसनगढ़ सांपला से पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा , कैथल से कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला , कलायत से पूर्व केंद्रीय मंत्री जय प्रकाश , आदमपुर (हिसार) से पूर्व सांसद कुलदीप बिश्नोई , कालका से पूर्व उप मुख्यमंत्री चंद्रमोहन , थानेसर से इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष रहे पूर्व मंत्री अशोक अरोड़ा , रानियां से पूर्व उप प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल के बेटे व पूर्व मंत्री रणजीत सिंह आदि के नाम प्रमुख हैं ।

संभावित सूचि
कालका : चंद्रमोहन (पूर्व उप मुख्यमंत्री)
पंचकूला : अंजली बंसल
अंबाला सिटी : जसबीर मलौर 
अंबाला कैंट : चित्रा सरवारा
साढौरा : राजपाल भुखड़ी (पूर्व विधायक)
जगाधरी : अकरम खान (पूर्व विधायक)
यमुनानगर : डा. राजन शर्मा
लाडवा : रमेश गुप्ता 
थानेसर : अशोक अरोड़ा (पूर्व मंत्री)
पिहोवा : हरमोहिंदर चट्ठा (पूर्व स्पीकर)
कैथल : रणदीप सुरजेवाला (मौजूदा विधायक)
पुंडरी : सुल्तान सिंह जड़ौला 
गुहला चीका : दिल्लू राम बाजीगर (पूर्व विधायक)
कलायत : जयप्रकाश (मौजूदा विधायक)
करनाल : सुमिता सिंह (पूर्व विधायक)
इंद्री : राकेश कंबोज (पूर्व विधायक)
पानीपत शहरी : वीरेंद्र बुल्ले शाह
समालखा : धर्म सिंह छोकर 
गन्नौर : कुलदीप शर्मा (विधायक व पूर्व स्पीकर)
सोनीपत : अनिल ठक्कर (पूर्व विधायक)
राई : जयतीर्थ दहिया (विधायक)
गोहाना : जगबीर मलिक (विधायक)
बरौदा : श्रीकिशन हुड्डा (विधायक)
खरखोदा : जयवीर वाल्मीकि (विधायक)
किलोई : भूपेंद्र सिंह हुड्डा (विधायक)
कलानौर : शकुंतला खटक (विधायक)
महम : आनंद दांगी (विधायक)
बेरी : रघुवीर कादियान (विधायक)
झज्जर : गीता भुक्कल (विधायक)
बहादुरगढ़ : राजेंद्र जून (पूर्व विधायक)
बादली : कुलदीप वत्स 
बवानी खेड़ा : रामकिशन फौजी (पूर्व विधायक)
तोशाम : किरण चौधरी (विधायक)
लोहारू : सोमबीर सिंह (पूर्व विधायक)
दादरी : नृपेंद्र सांगवान (पूर्व विधायक)
डबवाली : डॉक्टर केवी सिंह 
रानियां : रणजीत सिंह (पूर्व विधायक)
कालांवाली- शीशपाल केहरवाला
ऐलनाबाद : भरतसिंह बेनीवाल 
फतेहाबाद : प्रह्लाद गिलांखेड़ा 
रतिया : जरनैल सिंह 
आदमपुर : कुलदीप बिश्नोई (विधायक)
उकलाना : नरेश सेलवाल (पूर्व विधायक)
नारनौल : राव नरेंद्र सिंह (पूर्व मंत्री)
अटेली : अनीता यादव (पूमहेंद्रगढ़
महेंद्रगढ़ : राव दान सिंह (पूर्व विधायक)
कोसली : यादविंदर सिंह (पूर्व विधायक)
रेवाड़ी : कैप्टन अजय यादव (पूर्व मंत्री)
गुड़गांव : आशीष दुआ 
बादशाहपुर : राव धर्मपाल (पूर्व विधायक)
बावल : एमएल रंगा (पूर्व मंत्री)
तिगांव : ललित नागर (विधायक)
पलवल : करण सिंह दलाल (विधायक)
पृथला : रघुवीर तेवतिया 
होडल : उदय भान (पूर्व विधायक)

You can share this post!

Comments

Leave Comments