• 03:35 pm
news-details
चुनाव

ब्रेकिंग न्यूज़ : गोडसे पर प्रज्ञा ठाकुर का विवादित बयान,चुनाव आयोग की कार्रवाई

 

भोपाल संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने एक बार फिर विवादित बयान देकर मुसीबत मोल ली है। माफी मांगने के बाद भी प्रज्ञा के बयान पर सियासी बवाल थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताने वाले ठाकुर के विवादित बयान पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लिया है। आयोग ने मध्य प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) से तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है। गौरतलब है कि ऐक्टर-राजनेता कमल हासन के गोडसे को पहला हिंदू आतंकी बताने के बयान पर जब साध्वी से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा था, 'गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे।' 

प्रज्ञा के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश 
इस बारे में आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि प्रज्ञा ठाकुर के कथित बयान के बारे में मध्य प्रदेश के सीईओ को शुक्रवार तक तथ्यात्मक रिपोर्ट देने को कहा गया है। सूत्रों के मुताबिक चुनाव आयोग के अधिकारियों के मुताबिक सीईओ ने अपनी रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि की है कि 'ठाकुर ने राष्ट्रपिता के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की है जिससे चुनावों के दौरान अशांति पैदा हो सकती है'। उन्होंने रिपोर्ट में प्रज्ञा के खिलाफ कार्रवाई की सिफारिश की है क्योंकि उनके बयान से 'लोगों के बीच बैर पैदा हो सकता है।' 

प्रज्ञा ने मांगी माफी, बीजेपी ने पल्ला झाड़ा 
वहीं प्रज्ञा सिंह ने गोडसे को देशभक्त बताने वाले बयान पर विवाद उत्पन्न होने के बाद इसे वापस लेकर माफी भी मांग ली। आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर प्रज्ञा ठाकुर को पहले भी तीन दिन के लिए चुनाव प्रचार से रोका जा चुका है। विवाद बढ़ने पर बीजेपी के जीवीएल नरसिम्हा राव ने कहा था कि पार्टी साध्वी प्रज्ञा के बयान से सहमत नहीं है। हम इस बयान की निंदा करते हैं। राव ने कहा कि पार्टी उनसे इस मामले में सफाई देने को कहेगी। राव ने कहा था कि साध्वी को अपने इस बयान के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए। 

You can share this post!

Comments

Leave Comments