• 06:30 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

कोरोना को हराने के लिए लोगों ने दिया एकजुटता का संदेश

आम से लेकर खास तक ने दीये, मोबाइल की फ्लैश लाइटें जलाई

कोरोना के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर हरियाणा की जनता एकजुट नजर आई आम से लेकर खास तक ने अपने घरों के सामने दीये जलाये। 9 बजे घर की लाइटों को बंद करके छत्तों, बालकोनी में लोग परिवारों के साथ पहुंच गए। 9 बजकर 9 मिनट तक सभी ने मोबाइल की फ्लैश लाइट, दीये, टार्ज चलाई। आम से लेकर खास तक ने दीये, मोबाइल की फ्लैश लाइटें जलाई। रविवार रात 9 बजते ही सीएम व डिप्टी सीएम आवास की बत्तियां बंद हां गई। मुख्यमंत्री मनोहर लाल हाथों में दीया लेकर आवास परिसर में पहुंचे तो डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने भी अपने सरकारी आवास पर दीये जलाकर कोरोना जंग में एकजुटता का संदेश दिया।

रात्रि 9 बजे ही प्रदेश में घरों की छतों पर दीवाली का नजारा दिखाई दिया। कहीं दीये जगमगा रहे थे तो कहीं मोमबत्ती की लौ रोशनी बढ़ा रही थी। घरों की छतों, बालकनी, मुख्य द्वार पर खड़े होकर जनता ने टार्च व मोबाइल की फ्लैश से आसमान में उजियारा किया। कोरोना को हराने के लिए जनता पूरी तरह जागरूक दिखाई दी और 9 बजे ही अपने-अपने घरों की बत्तियां बंद कर दीये जलाए।  कोरोना की जंग के खिलाफ जनता का मनोबल बढ़ाने में माननीय भी पीछे नहीं रहे। विधायकों के साथ सभी नगर निगम मेयर से लेकर नगर परिषद, नगरपालिका, जिला परिषद, ब्लाक समिति चेयरमैन व सरपंचों ने अपने-अपने आवास पर दीये जलाए। मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री के साथ बीजेपी व जजपा नेताओं ने भी दीये जलाने से पीछे नहीं रहे। 

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना वायरस की जंग के खिलाफ मनोबल व एकजुटता दिखाने के रविवार को रात्रि 9 बजे घरों की छतों, 

बालकनी, मुख्य द्वार पर खड़े होकर दीये जलाने का आह्वान किया था। इस अपील का प्रदेश की जनता पर इतना कारगर असर हुआ कि 9 बजे से पहले ही जनता घरों की छतों पर पहुंच गई और दीयों के लौ से कोरोना को हराने के लिए एकजुट दिखाई दी।

9 बजे घर की लाइटों को बंद करके छत्तों, बालकोनी में लोग परिवारों के साथ पहुंच गए। 9 बजकर 9 मिनट तक सभी ने मोबाइल की फ्लैश लाइट, दीये, टार्ज चलाई।  कई जगहों पर बच्चों ने रंगोली से मोदी को लिख कर उसके चारों तरफ दीये लगाए। शंख बजाने के साथ-साथ पीएम नरेंद्र मोदी के गाने भी लोगों ने बजाए, थाली भी साथ-साथ में लोग बजाते नजर आए तो कई जगहों पर आतिशबाजी भी करते हुए लोग नजर आए। कोरोना मुक्ति के लिए घर-घर दीपक, मोमबत्तियां लोगों द्वारा जलाई गई। किसी मकान की छत्त पर दीपक तो किसी की छत्त पर मोमबत्ती का प्रकाश फैल रहा था।   

एडवोकेट सन्नी, रामनिवास, सुरेश, चांदी ने कहा कि जैसा नजारा कल था वैसे दीवाली पर होता है। आज कोरोना का सबके मनों में डर है। ऐसे में एक बार ऐसा खुशी का माहौल रात को 9 बजे बना जिससे सभी के दिमाग से कोरोना का खौफ कम हुआ। लोगों को चाहिए कि वो सावधानी बरते, अधिक से अधिक घर में रहे, सोशल डिस्टेंसिंग अपनाए।  

You can share this post!

Comments

Leave Comments