• 06:28 pm
news-details
मेट्रो

समय रहते अगर पप्पू बताने वाले राहुल की बात मान लेते तो कोरोना को रोका जा सकता था: जगदीश शर्मा

 राहुल प्रियंका गांधी सेना के राष्ट्रीय अद्यक्ष एवं कांग्रेस नेता जगदीश शर्मा ने तल्ख टिप्पणीयों के साथ केन्द्र सरकार पर हमला किया है। 
शर्मा ने कडे शब्दों के साथ मोदी सरकार पर हमलावर रूख अख्तियार करते हुए कहा है कि जब पूरी दुनिया कोरोना जैसी भंयकर माहामारी से त्रस्त होकर अपने लोगों की सुरक्षा के लिए हस्पताल, वेटीलेंटर, मास्क, और दूसरी मूलभूत सुविधाओं के लिए संघर्ष कर रही थीं तो हमारे प्रधानमंत्री ताली और थाली, दिया और मोमबत्ती की आड में अपनी नाकामयाबी को छुपाने के असफल प्रयास में लगे हुए थे ।
जगदीश शर्मा ने कहा की राहुल गांधी द्वारा बार-बार कोरोना को लेकर दी गई चेतावनी के बावजूद प्रधानमंत्री ने उन्हें गंभीरता से अमल नहीं किया, और वो बिहार चुनाव की तैयारी व मध्यप्रदेश सरकार को गिराने के घिनौने षंडयत्र को रचने में व्यस्त रहे। 
उन्होनें कटाक्ष करते हुए आरोप लगाया कि आज हमारे डाक्टर, नर्स, पुलिसकर्मी व सफाईकर्मी विपरीत परिस्थितियां के बावजूद बगैर किसी सुरक्षा कवच के कोरोना माहमारी का डट कर सामना कर रहे हैं और केन्द्र सरकार की तरफ से इनको कोई सुरक्षा मुहैया नहीं करवाई जा रही है, नतीजा यह है कि मुंबई के एक हस्पताल में 23 मैडिकल स्टाफ कोरोना से संक्रमित हो गया है। 
उन्होने सरकार को चेताते हुए कहा है की बगैर हथियार के कोई जंग नहीं जीती जा सकती, इसलिए जल्द से जल्द डाक्टर, नर्सों सहित पुलिस और सफाईकर्मीयों को सुरक्षा उपकरण उपलब्ध करवाने चाहिए  क्योकि यह दायित्व केन्द्र सरकार का बनता है। उन्होने कहा की अगर वक्त रहते मोदी राहुल गांधी की बात सुने होते तो देश को इस महामारी की चपेट में आने से रोका जा सकता था ।
        ज्ञात हो कि जगदीश शर्मा प्रियंका गांधी वाड्रा के बहुत करीबी माने जाते हैं ।

You can share this post!

Comments

Leave Comments