• 07:10 pm
news-details
अन्य राज्य

सिक्किम में कोरोना की नो एंट्री 

सीएम तमांग की दूरगामी सोच का जगत हुआ क़ायल 

जहां एक तरफ़ कोरोना की भयंकर बीमारी ने पूरी दुनिया का चक्का जाम कर लोगों को घरों में क़ैद कर दिया है वहीं दूसरी तरफ़ हिंदुस्तान के पूर्वोत्तर में स्थित छोटा लेकिन सुन्दर प्रदेश सिक्किम  महामारी कोरोना से पूरी तरह सुरक्षित है ।

देश के लगभग सभी राज्यों में कोरोना संक्रमित लोग सामने आ रहे हैं लेकिन सिक्किम के लोकप्रिय मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग गोले ने कोरोना वायरस के खतरे को पहले ही भांप लिया था ।पर्यटकों के पसंदीदा राज्य सिक्किम में पर्यटकों की आवाजाही पर रोक लगा दी गई थी

शेष भारत में कर्फू जब 24 मार्च को लगा, तो वहीं सिक्किम सरकार ने पहले ही लगा दिया था।। हालांकि सिक्किम में गरीबी दर बेहद कम है फिर भी मजदूर वर्ग के लिए खाने पीने की व्यवस्था पहले ही कर ली गई थी और उसका वितरण भी सरकार बेहतरीन तरीके से कर रही है।। देश में शायद ही कोई ऐसा राज्य हो जिसने कोरोना को लेकर सरकार के नियमों का सही पालन किया हो।

सिक्किम में मुख्यमंत्री स्वयं कोरोना की लड़ाई के खिलाफ मैदान में डटे हुए हैं औऱ आम व्यक्ति की जरूरत का पूरा ख्याल रख रहे हैं।बता दें कि सीएम की कार्यकुशलता के परिणाम स्वरूप ही सिक्किम तेज़ी से तरक़्क़ी करने वाला देश का पहला राज्य है। यहाँ के निवासी मुख्यमंत्री तमांग को घर के मुखिया की भाँति मानते हैं वहीं श्री तमांग भी प्रदेश वासियो को अपने पुत्र की भाँति स्नेह देते हैं ।

You can share this post!

Comments

Leave Comments