• 07:48 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

हरियाणा-कोरोना के विरूद्ध लड़ाई में सरकार के साथ आया विपक्ष

सीएम ने अध्यक्षता में हुई सर्वदलीय बैठक

सभी ने गेहूं के सीजन में दिखाई किसानों की चिंता

हरियाणा सरकार द्वारा कोरोना के खिलाफ लड़ी जा रही लड़ाई में विपक्ष ने भी सरकार का समर्थन कर दिया है। राजनीति से अलग हटकर विपक्ष ने सरकार को इस मामले में हर संभव सहयोग दिए जाने का आश्वासन दिया है। बुधवार को चंडीगढ़ स्थित सीएम आवास से मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक हुई। कोरोना वायरस का प्रकोप शुरू होने के बाद यह दूसरी बैठक थी। जिसमें मुख्यमंत्री आवास में उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, गृहमंत्री अनिल विज के अलावा मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोड़ा, गृहसचिव विजय वर्धन समेत कई आला अधिकारी मौजूद रहे। 

उधर वीडियो कांफ्रैंसिंग के माध्यम से निर्दलीय विधायकों के प्रतिनिधि के रूप में कैबिनेट मंत्री रणजीत चौटाला, नेता प्रतिपक्ष भूपेंंद्र सिंह हुड्डा,इनेलो विधायक अभय सिंह चौटाला, हरियाणा लोकहित पार्टी विधायक गोपाल कांडा केअलावा कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा व जजपा प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह भी इस बैठक में शामिल हुए।

बैठक में मुख्यमंत्री ने कोरोना से निपटने के लिए अब तक सरकार द्वारा किए गए प्रबंधों पर रिपोर्ट पेश की। बैठक में विपक्षी नेताओं ने गेहूं के खरीद केंद्रों की संख्या को और बढ़ाने की मांग रखते हुए कहा कि समूची खरीद प्रक्रिया की नियमित निगरानी की जरूरत है। बैठक में मुख्यमंत्री ने बताया कि सभी जिला उपायुक्तों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि कृषि कार्यों में जुटे किसानों को तुरंत पास जारी किए जाएं।

बैठक के बाद दुष्यंत चौटाला ने बताया कि गेहूं खरीद के लिए करीब दस हजार कर्मचारियों की आवश्यकता है। अगर जरूरत पड़ती है तो लोक निर्माण विभाग समेत अन्य विभागों के कर्मचारियों की भी डयूटी लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान सरकार द्वारा बनाए गए शैल्टर होम में करीब 16 हजार प्रवासी मजदूर रूके थे। जिन्होंने अब वापस अपने काम की तरफ लौटना शुरू कर दिया है।

 

You can share this post!

Comments

Leave Comments