• 10:46 am
news-details
पंजाब-हरियाणा

हरियाणा भाजपा को नए तेवर और नए कलेवर देने में जुटे ओपी धनखड़,अलग लुक में होगी नई टीम


धनखड़ ने फुलप्रूफ एक्शन प्लान तैयार किया


हरियाणा। प्रदेश में भाजपा अब अलग ही रंग-रूप में नजर आएगी। हरियाणा भाजपा के नए अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ संगठन को गति देने की दिशा में जुटे हुए हैं। इसके साथ ही उन्होंने कार्यकर्ताओं को घर से बाहर निकालकर जनता के बीच भेजने की कार्ययोजना तैयार की है। इसके तहत संगठन की सबसे निचली इकाई मंडल स्तर पर कार्यकर्ताओं के साथ संवाद शुरू कर दिया गया है। धनखड़ अपनी नई टीम में युवा जोश और अनुभव का समावेश करते हुए जिलाध्यक्षों में भी बदलाव करने वाले हैं। धनखड़ की प्रदेश स्तरीय टीम भी कुछ इसी तरह की होगी।

बदले जाएंगे भाजपा जिलाध्यक्ष
भाजपा अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ के सामने घरों में बैठे पार्टी के कार्यकर्ताओं को फील्ड में उतारने तथा उनसे संगठन के हित में काम लेने की सबसे बड़ी चुनौती है। इस कार्य के लिए धनखड़ ने फुलप्रूफ एक्शन प्लान तैयार कर लिया, जिसे मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ चर्चा कर अंजाम दिया जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष के चयन से पहले हालांकि भाजपा कई जिलों के अध्यक्ष तय कर चुकी थी, लेकिन अब धनखड़ अपनी पूरी टीम को नए सिरे से खड़ा करना चाहते हैं। भाजपा के संविधान में तीन महामंत्रियों तथा एक संगठन महामंत्री का प्रावधान है।

दिखेगा युवा जोश और अनुभव का समावेश
धनखड़ की टीम में अब पुराने महामंत्रियों के स्थान पर तीन नए महामंत्री नियुक्त किए जाएंगे। संगठन में यह पद काफी अहम माने जाते हैं। लिहाजा इन पर किसी सिफारिश की बजाय काम करने वाले तथा अनुभवी पार्टी नेताओं को जिम्मेदारी मिल सकती है। संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट का कार्यकाल लगभग पूरा हो चुका है। यह काफी महत्वपूर्ण पोस्ट है। लिहाजा इस पर नियुक्ति हाईकमान की मंजूरी के बाद हो सकेगी। भाजपा के जिलाध्यक्षों में भी बदलाव तय है, लेकिन ऐसा भी नहीं है कि पहले से काम कर रहे जिलाध्यक्षों को दोबारा जिम्मेदारी नहीं मिलेगी। काम करने वाले जिलाध्यक्षों को धनखड़ ने दोबारा से संगठन में जिम्मेदारी निभाने का मौका देने की कार्य योजना बनाई है।
भाजपा अध्यक्ष पूरे प्रदेश के मंडल अध्यक्षों के साथ संवाद कर रहे हैं, ताकि संगठन की निचली इकाई से पूरा फीडबैक हासिल कर आगे की योजनाएं तैयार की जा सकें। 9 अगस्त को रोहतक में चर्चा हो चुकी, जबकि 10 या‍नि की आज हिसार में चर्चा है। इसके बाद 12 अगस्‍त को पंचकूला में चर्चा प्रस्तावित है। शक्ति केंद्र प्रमुखों व बूथ प्रमुखों के साथ भी संवाद की योजना है, जिसका प्रारूप तैयार किया जा रहा है। चर्चा का यह दौर पूरा हो जाने के बाद धनखड़ प्रदेश की टीम तैयार करेंगे। साथ ही विपक्ष द्वारा उठाए जाने वाले मुद्दों खासकर किसानों के हित में केंद्र सरकार के तीन अध्यादेशों का विरोध करने वालों को करार जवाब देने की रणनीति पर भी भाजपा तेजी के साथ आगे बढ़ रही है। इसे लेकर धनखड़ रोहतक में किसानों व पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ संवाद कर चुके हैं।

धार देने के लिए कठोर फैसले लेने की तैयारी
हरियाणा भाजपा की नई टीम में 2019 का चुनाव हारे कुछ नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। धनखड़ का मानना है कि चुनाव हारना कोई गलत बात या अपराध नहीं है। किसी भी राजनीतिक दल के बड़े से बड़े नेता तक चुनाव हारे हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उन्हेंं पराजित नेताओं के तौर पर प्रोजेक्ट कर उनकी प्रतिभा का इस्तेमाल न किया जाए। लिहाजा ऐसे तमाम कार्यकर्ताओं,पुराने पदाधिकारियों व संगठन के प्रति समॢपत नेताओं को जिम्मेदारी मिल सकती है, जो पार्टी को पूरी तरह से समर्पित हैं। ऐसे नेताओं के साथ भी धनखड़ का संवाद कार्यक्रम जारी है।

प्रत्येक काम के लिए कार्यकर्ता मूल मंत्र
हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष एवं पूर्व कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने पार्टी के समॢपत नेताओं और कार्यकर्ताओं को संगठन से जोडऩे की प्रक्रिया को आगे बढ़ाने का निर्णय लिया है। उनका मूल मंत्र प्रत्येक कार्यकर्ता को काम और प्रत्येक काम के लिए कार्यकर्ता है। धनखड़ का कहना है कि सभी को साथ लेकर चला जाएगा और जो प्रदेश, सरकार तथा संगठन के हित में होगा, वह निर्णय लिए जाएंगे। धनखड़़ ने केंद्रीय मंत्रियों राव इंद्रजीत, रतनलाल कटारिया और कृष्णपाल गुर्जर से स्वयं मुलाकात कर उनके प्रति भी सम्मान जाहिर किया है। साथ ही धनखड़ राज्य सरकार के मंत्रियों तथा पूर्व मंत्रियों से भी मंत्रणा कर रहे हैं। पूर्व मंत्री विपुल गोयल, कैप्टन अभिमन्यु, कविता जैन,राव नरबीर, कृष्ण बेदी, कर्ण देव कांबोज, कृष्ण लाल पंवार और मनीष ग्रोवर समेत तमाम सांसदों के साथ भी धनखड़ ने संवाद का दौर आरंभ कर रखा है।

You can share this post!

Comments

Leave Comments