• 10:36 am
news-details
पंजाब-हरियाणा

रेलवे ने नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल पर दर्ज कराया केस

हैकिंग-फिरौती की शिकायत


अंबाला। सिस्टम हैक करके सरकारी दस्तावेजों के साथ छेड़छाड़ और रेलवे की गोपनीयता में सेंध लगाने के दूसरे दिन रेलवे हरकत में आया। मामले की गंभीरता को देखते हुए रेलवे ने गृह मंत्रालय के नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल पर केस दर्ज करवाया है। सूत्रों की माने तो जिस सिस्टम को हैक किया है उसमें रेलवे से जुड़े कई टेंडर की जानकारी भी है।


डिप्टी चीफ सिग्नल एंड टेलीकॉम इंजीनियर रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन विक्रम सिंह यादव ने पोर्टल पर दी शिकायत में बताया कि लेनोवा कंपनी के 10 सिस्टम 15 जुलाई 2020 को विभागीय प्रक्रिया के तहत खरीदे गए थे। यह सिस्टम 5 अगस्त 2020 को उनके विभाग को प्राप्त हुए थे। इसमें एक सिस्टम नंबर पीजी 021वी 2डी हैक हो गया। फिरौती के तौर पर हैकर्स द्वारा 980 अमेरिकी डॉलर की डिमांड की गई। शिकायत में यह भी लिखा गया है कि यह सरकारी विभाग के साथ घटित गंभीर मसला है।


सिस्टम में रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन से जुड़ी कुछ जानकारी थी। इसमें कुछ मार्गों पर रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन को लेकर प्लान बनाया गया था कि कौन-कौन से स्तर पर क्या काम होना है,जैसे तारें डालना,रिपेयर या कोई अन्य कार्य। 

सिस्टम हैक होने से काम 8 से 10 दिन के लिए लंबित होगा। इससे ज्यादा कुछ नहीं है। इससे रेलवे को फाइनेंशियल नुकसान नहीं हुआ और न ही रेलवे का कोई काम प्रभावित होगा। नया सिस्टम और प्लान तैयार करने का कार्य शुरू कर दिया गया है।
- विवेक सिंह यादव, डिप्टी सीएसटीई आरई अंबाला

साइबर सैल को दी शिकायत
मामले की शिकायत डिप्टी चीफ सिग्नल एंड टेलीकॉम इंजीनियर रेलवे इलेक्ट्रिफिकेशन की तरफ से गृह मंत्रालय के नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल पर अपलोड की गई है। आगामी जांच साइबर सेल द्वारा की जाएगी।
- पंकज गुप्ता, एडीआरएम अंबाला

You can share this post!

Comments

Leave Comments