• 06:47 am
news-details
पंजाब-हरियाणा

पत्रकारों संग सुखी पड़ी नूह ड्रेन पहुंचे आफताब, बीजेपी जेजेपी सरकार पर भेदभाव के आरोप


नूंह विधायक व सीएलपी हरियाणा के उप नेता चौधरी आफताब अहमद कल रविवार को पत्रकारों संग सुखी पड़ी नूह ड्रेन पहुंचे, जहां उनके साथ सैंकड़ों किसान भी मौजूद थे। कोटला पंप हाउस आंकेडा की नूह ड्रेन पहुंचे नूह विधायक आफताब अहमद बीजेपी जेजेपी सरकार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार किसान मजदूर विरोधी तो है ही बल्कि मेवात विरोधी है।


पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी विधायक को मेवात में सुखी पड़ी ड्रेन में अंदर जाकर पत्रकार वार्ता करनी पड़ी हो। आफताब अहमद ने पत्रकारों को दिखाया कि कैसे जान बूझकर मेवात के किसानों को बीजेपी जेजेपी सरकार पानी पर्याप्त मात्रा में ना देकर परेशान कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ साजिश में बीजेपी के हारे हुए नेता शामिल हैं।

सीएलपी उप नेता चौधरी आफताब अहमद ने बताया कि कितनी बार मुख्यमंत्री से वो मिले, कई बार तो तीनों विधायक साथ मिले, कभी पानी मिला तो कभी नहीं। डीसी से लेकर सिंचाई विभाग के अधिकारियों से लेकर मुख्यमंत्री तक सिंचाई के लिए पानी मांगा जाता है लेकिन फिर भी पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिलता। क्या मुख्यमंत्री इस बात का बदला ले रहे हैं कि मेवात में तीनों विधायक कांग्रेस के हैं? ये कैसी मानसिकता इस बीजेपी जेजेपी सरकार की है?

किसानों ने पत्रकारों को बताया कि बीजेपी और जेज़ेपी सरकार उन्हें परेशान कर रही है, पानी नहीं दिया जा रहा है, फसल बोने का समय है लेकिन हमें बर्बाद किया जा रहा है, लगता है हमसे बदला लिया जा रहा है। हम निराश हैं, पता नहीं सरकार ऐसा क्यों कर रही है। पानी मांगने हम आज अपने विधायक आफताब अहमद के साथ पत्रकारों के सामने आए हैं।

नूह विधायक आफताब अहमद कहते हैं कि किसान अपना हक मांग रहे हैं कोई भीख नहीं, मेवात के पानी को राजस्थान भेजा जा रहा है व गोंची ड्रेन में डाला जा रहा है। मेवात को 450 क्यूसिक पानी दिया जाना चाहिए लेकिन सरकार भेदभाव कर रही है।

 गुड़गांव कैनाल से 8 चैनल नेहरें हैं जिनमें नूह व इंडरी डिस्ट्रीब्यूटरी के अलावा उजिना, कलिंजर, बनारसी, फिरोजपुर झिरका डिस्ट्रीब्यूटरी, दुबालू व गंगोला माइनर शामिल हैं। उन्होंने कहा कि सिंचाई विभाग के चीफ़ इंजिनियर सत्ता पक्ष के राजनीतिक दल की कठपुतली बने हुए हैं और भ्रष्टाचार कर रहे हैं। नूह ड्रेन में ड्रेन का बहाना बना कर पानी नहीं देते हैं लेकिन राजस्थान को पानी देने व गोंची ड्रेन में पानी डालने का काम बहुत तेजी से करते हैं। 

नूह विधायक आफताब अहमद ने चेतावनी दी कि अब आर पार का संघर्ष होगा। किसान की लड़ाई के लिए खून भी देना पड़ा तो दिया जाएगा लेकिन बीजेपी सरकार को किसान का खून नहीं चूसने देंगे। 

इस दौरान जमशेद पूर्व सरपंच आंकेडा, हाजी इल्यास, हमीदा पूर्व सरपंच, अजीज़ नंबरदार, सईद अहमद, हाजी अल्लाबक्स, मोजा, हाजी तैयब, शुफयान, उस्मान, आकूल्ला, गुरुजी, असगर हुसैन, जफर, अख्तर, कमरू मेंबर, असफाक, असगर मेंबर सहित सैंकड़ों किसान मौजूद थे।

You can share this post!

Comments

Leave Comments