• 07:27 am
news-details
पंजाब-हरियाणा

सामुदायिक भवन की जगह से कब्जा खाली नहीं हुआ तो देंगे धरना

पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं भगवान परशुराम जन कल्याण सेवा ट्रस्ट ने बैठक कर लिया निर्णय

पलवल, (सुन्दर कुंडु) 

  पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं भगवान परशुराम जन कल्याण सेवा ट्रस्ट की बैठक सोमवार को गांव कुसलीपुर में संपन्न हुई। बैठक में गांव 92 लाख रुपये की लागत से बनाए जाने वाले सामुदायिक भवन व पार्क की जगह से अवैध कब्जे हटवाने को लेकर चर्चा की है। बैठक की अध्यक्षता ट्रस्ट के प्रधान सुबेदार ज्ञानचंद ने की, जबकि संचालन सचिव अनिल शर्मा ने किया।
बैठक में कहा गया कि नवंबर 2018 में नगर परिषद अध्यक्षता इंदू भारद्वाज की अध्यक्षता में गांव कुसलीपुर में पंडित दीन दयाल उपाध्यक्ष सामुदायिक भवन एवं पार्क बनाने का प्रस्ताव पारित किया गया था। प्रस्ताव के अनुसार गांव की दो एकड़ जमीन में 92 लाख रुपये की लागत से पार्क व सामुदायिक भवन विकसित किया जाना है। 

गांव के कुछ दंबग लोगों ने अवैध रूप से कब्जे किए हुए हैं। कब्जे हटवाने के लिए गांव की 11 सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया, जिससे बाद आपसी सहमति से करीब 80 प्रतिशत कब्जे हटवा दिए गए। ठेकेदार ने एक ओर की दीवार भी करवा दी, परंतु गांव के कुछ दंबंग लोग 20 प्रतिशत कब्जे खाली नहीं कर रहे हैं। इन्होंने यहां बनी चौपाल पर कब्जा कर लिया तथा राजमार्ग के साथ अवैध रूप से दुकानें बना दी है। कब्जे खाली न होने से ठेकेदार ने काम बंद कर दिया।

सुबेदार ज्ञानचंद ने कहा कि गांव में कहीं पर भी कोई सामुदायिक भवन या सार्वजनिक स्थल नहीं है, जिससे किसी भी प्रकार का सामूहिक कार्य करने में परेशानी आती है। गांव की दो एकड़ जमीन में सामुदायिक भवन बनाने के लिए प्रस्ताव पास किया था, परंतु अवैध कब्जे खाली नहीं किए जा रहे हैं। कब्जे हटवाने के जिला उपायुक्त, एसपी, नगर परिषद आयुक्त को दर्जनों बार शिकायत दी गई है, परंतु कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। यदि जल्द ही कब्जे खाली नहीं करवाए गए तो सीएम को इसकी शिकायत की जाएगी तथा धरना प्रदर्शन किया जाएगा।
बैठक में ईश्वर प्रसाद, नेमंचद, दिनेश एडवोकेट, जगराम भड़ाना, ओमप्रकाश, राजेंद्र, आनंद कौशिक, भूदेव शर्मा, हल्ली, जयचंद, राजेंद्र, सुमरपाल, इंदर भारद्वाज, प्रेमचंद, नरेश, देशराज, विवेक, सुबेदार बाबू, मवासी, मूर्ति पूर्व सरपंच मुख्य रूप से मौजूद थे।

You can share this post!

Comments

Leave Comments