• 07:35 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

किसान आंदोलन की आड़ में पंजाब-हरियाणा में की गई मोबाइल टावरों से तोडफ़ोड़

जीओ ने हाईकोर्ट में लगाई याचिका

चंडीगढ। किसान आंदोलन के दौरान पंजाब और हरियाणा में जीओके मोबाइल टावरों की तोडफ़ोड़ और कम्युनिकेशन सर्विसेस को बाधित करने का मामला पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट चंडीगढ़ पहुंच गया है। सोमवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने जियो इंफोकॉम के जरिए पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में हाईकोर्ट से अपील की गई है कि उपद्रवियों द्वारा तोडफ़ोड़ की गैर कानूनी घटनाओं पर रोक लगाई जाए। इसके साथ ही तोडफ़ोड़ करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की गई है। इसमें कहा गया है कि इस हिंसक कार्रवाई से कंपनी के हजारों कर्मचारियों की नौकरी खतरे में पड़ गई है। वहीं दोनों राज्यों में सहायक कंपनियों द्वारा चलाए जा रहे महत्वपूर्ण कम्युनिकेशन इंफ्रास्ट्रक्चर, सेल्स और सेवा आउटलेट के रोजमर्रा के कामों में व्यवधान पैदा हुआ है। याचिका में यह भी कहा गया है कि हमारे व्यावसायिक प्रतिद्वंदी और निहित स्वार्थी तत्व इन कार्रवाइयों में संलिप्त उपद्रवियों को उकसा रहे हैं। दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे किसान आंदोलन में रिलायंस के खिलाफ लगातार विरोध अभियान चलाया जा रहा है और इसका सच्चाई से कोई लेना देना नहीं है। रिलांयस को इससे किसी भी तरह का कोई फायदा नहीं हो रहा है।बस कुछ विरोधी लोगों का मकसद कंपनी की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाना है।

You can share this post!

Comments

Leave Comments