• 07:29 pm
news-details
मेट्रो

गुड़गांव में चल रहे किसान आंदोलन में पहुंचे आफताब अहमद, किया समर्थन

 

गुड़गांव में चल रहे किसान आंदोलन को बुधवार को सीएलपी उप नेता का समर्थन मिला, कांग्रेस विधायक दल के नेता पूर्व मंत्री आफताब अहमद विधायक नूह किसानों द्वारा गुड़गांव के राजीव चौक पर संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा आयोजित आन्दोलन स्थल पहुंचे और किसानों की मांगों को अपना समर्थन दिया, उनके साथ पीसीसी सदस्य चौधरी महताब अहमद भी मौजूद थे।

 

सीएलपी उप नेता चौधरी आफताब अहमद ने कहा कि बीजेपी सरकार असंवेदनशीलता की सारी सीमाएं लांघ चुकी है, किसान एक डिग्री व ज़ीरो डिग्री तापमान में खुले आसमान के नीचे मजबूर बैठा है लेकिन बीजेपी   सरकार अहंकार में चूर है और किसानों की बलि चढ़ाकर उद्योगपति दोस्तों को मजबूत करना चाहती है लेकिन कांग्रेस किसानों के संघर्ष में साथ खड़ी है, लड़ाई तब तक चलेगी जब तक बीजेपी सरकार इन काले कानूनों को वापस नहीं लेगी।

 

 

सीएलपी उप नेता चौधरी आफताब अहमद ने कहा कि किसान आज ना केवल दिल्ली में बल्कि देश भर में नए कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, सरकार उनकी मांगे मानने के बजाय किसानों को इतना प्रताड़ित कर रही है। पचास दिनों में 60 किसानों की शहादत हो चुकी है लेकिन बीजेपी सरकार बैपरवाह नजर आती है। उन्होंने प्रदेश की बीजेपी जजपा सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि हरियाणा सरकार ने भी खूब किसानों पर अत्याचार किए हैं, ठंड में कभी लाठी, कभी आंसू गैस गोले,कभी ठंडे पानी की बोछार किसान पर चलाए गए यहां तक कि सड़कों से खुदवा दिया गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज में किसानों के कर्ज माफ होते थे आज बीजेपी राज में उनकी जमीनों पर भी खतरा मंडरा रहा है। 

 

आफताब अहमद ने कहा कि जब किसान इन तीनों कानूनों का पुरजोर विरोध कर रहे हैं तो बीजेपी क्यों जबरदस्ती कानून बना रही है। ये कानून किसानों के भले के लिए नहीं बल्कि बड़े उद्योगपति लोगों की कमाई के लिए बनाए गए हैं। किसी भी हाल में किसानों को बर्बाद नहीं करने दिया जाएगा, केंद्र सरकार को तीनों कानून वापस लेने होंगे। बीजेपी को अपनी ग़लती मानकर काले कानून वापस लेने होंगे इसके अलावा कोई विकल्प नहीं है, किसान अन्नदाता के संघर्ष की जीत होगी।

 

आफताब अहमद ने बताया कि किसानों के मामले को लेकर नेता विपक्ष चौधरी भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने राज्यपाल को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि जल्द विशेष सत्र बुलाया जाए और किसानों के मामले पर बात हो, उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार अल्पमत में आ गई है इसलिए अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा।

 

इस दौरान सीएलपी उप नेता चौधरी आफताब अहमद ने किसानों को आश्वस्त किया कि उनके नेता उनकी पार्टी और वो किसानों के साथ खड़े हैं और किसानों को बर्बाद नहीं होने देंगे।

You can share this post!

Comments

Leave Comments