• 03:38 pm
news-details
चुनाव

सियासी खेल में पश्चिम बंगाल में 'जय श्री राम' के साथ 'जय मां काली' का नारा देगी बीजेपी...

पश्चिम बंगाल में अपनी जड़ें मजबूत करने में लगी भारतीय जनता पार्टी ने 'जय श्री राम' के साथ ही 'जय मां काली' के नारे को भी जोड़ने का फैसला किया है। आम बंगाली जनमानस तक पहुंचने की कोशिश के तहत पार्टी के नेताओं ने ऐसा नारा तैयार किया है, जिससे लोगों में ऐसा संदेश ना जाए कि बीजेपी 'गैर-बंगाली' पार्टी है। 
लोकसभा चुनावों के बाद पहले सांगठनिक बैठक में बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने पश्चिम बंगाल को लेकर विस्तार से चर्चा की। इसमें अगले 6 महीनों में प्रदेशभर में घूम-घूमकर संपर्क अभियान चलाने की तैयारी पर चर्चा हुई। बीजेपी के पश्चिम बंगाल मामलों के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि बंगाल में बीजेपी का प्रचार तब तक अधूरा रहेगा, जब तक टीएमसी सरकार सत्ता से बाहर नहीं हो जाती और बीजेपी के नेतृत्व में नई सरकार नहीं बन जाती। 

विजयवर्गीय ने राज्य में लोकसभा चुनाव में पार्टी की शानदार जीत के बाद कहा, 'पश्चिम बंगाल में हमारे नारे 'जय श्री राम' और 'जय महाकाली' होंगे। बंगाल महाकाली की धरती है। हमें मां काली का आशीर्वाद चाहिए।' बीजेपी ने राज्य के लिए अपने नारों की सूची में 'जय महा काली' ऐसे समय में शामिल किया है, जब टीएमसी ने बीजेपी पर बाहरी लोगों की पार्टी होने का आरोप लगाया जो बंगाल की संस्कृति नहीं समझते। 

पश्चिम बंगाल बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, 'हमें केवल जय श्रीराम के नारों से कोई आपत्ति नहीं है, लेकिन ऐसा लगता है कि यहां की ममता सरकार इस नारे को लगाने वालों के खिलाफ है। जय श्रीराम-जय मां काली यहां ज्यादा स्वीकार्य होगा, क्योंकि बंगाल में कई पीढ़ियों से मां काली की पूजा होती आ रही है।' 

बीजेपी ने इसके साथ ही सीएम ममता बनर्जी की अपील पर 'जय हिंद, जय बांग्ला' का नारा देने वालों को धन्यवाद नोट भेजने का निर्णय लिया है। पार्टी के अनुसार 'जय हिंद बोलने में कुछ भी गलत नहीं है क्योंकि इससे राष्ट्रवादी भावनाओं को मजबूती मिलती है।' 
 
 

You can share this post!

Comments

Leave Comments