• 11:24 am
news-details
राज्य

राजस्थान के सियासी संकट पर कपिल सिब्बल का पार्टी नेतृत्व पर प्रश्न चिन्ह! कहा- कांग्रेस को लेकर चिंतित हूं

 राजस्थान कांग्रेस संकट में घिरी है. उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से रिश्ते अच्छे नहीं हैं.

नई दिल्ली: नई दिल्ली: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा भाजपा पर अपनी सरकार गिराने की कोशिश करने का आरोप लगाने के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने रविवार को कहा कि वह पार्टी को लेकर चिंतित हैं.

सिब्बल ने इस ‘संकट’ से तुरंत निपटने की अपील करते हुए कहा कि पार्टी नेतृत्व कब ‘जागेगा’.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘पार्टी को लेकर चिंतित हूं. क्या हम तब जागेंगे जब हमारे हाथ से सब कुछ निकल जाएगा.’

सूत्रों ने कहा कि राजस्थान कांग्रेस संकट में घिरी है. उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से रिश्ते अच्छे नहीं हैं.

दोनों शीर्ष नेताओं के बीच तकरार की वजह राज्य की पुलिस द्वारा विधायकों की ‘खरीद-फरोख्त’ मामले की जांच का आदेश देना और पायलट को नोटिस भेजना है, जिसे लेकर पायलट नाराज हैं.

सूत्रों ने शनिवार को कहा था कि राजस्थान पुलिस ने गहलोत और पायलट को भी नोटिस जारी कर कांग्रेस सरकार गिराने की कथित कोशिशों के संबंध में बयान दर्ज कराने के लिये कहा है.

पुलिस के विशेष कार्यबल (एसओजी) ने सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी को भी बयान देने के लिए बुलाया है.

एसओजी ने शुक्रवार को हिरासत में लिये गए दो लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी, जो गहलोत सरकार गिराने के लिये कांग्रेस विधायकों की खरीद-फरोख्त में कथित रूप से शामिल थे.

गहलोत ने शनिवार को विपक्षी भाजपा पर आरोप लगाया था कि वह उनके विधायकों को बड़ी रकम देकर सरकार गिराने की कोशिश कर रही है.

उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार न केवल स्थिर है बल्कि वह अपना पांच साल का कार्यकाल भी पूरा करेगी.

वहीं भाजपा ने गहलोत से इन आरोपों को साबित करने के लिये कहा है.

You can share this post!

Comments

Leave Comments