• 11:43 pm
news-details
खेल

36 पहलवानों समेत 101 को बड़ा झटका 

 कुश्ती संघ ने खेलो इंडिया की सूची से हटाया 
 @ 099965-19000 
जींद। कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए चल रहे लॉकडाउन में कुश्ती की शुरूआत करते हुए देश के लिए खेलने का सपना लेकर आगे बढ़ रहे पहलवानों को बड़ा झटका लगा है। भारतीय कुश्ती संघ ने हरियाणा के 36 पहलवानों समेत 101 को खेलो इंडिया योजना की सूची से हटा दिया है। भारतीय कुश्ती संघ ने इन सभी पहलवानों से इनका विवरण मांगा था, लेकिन उसके बावजूद किसी भी पहलवान ने अपना विवरण नहीं दिया। जिससे कुश्ती संघ को इन सभी पहलवानों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए नाम हटाना पड़ा। कुश्ती संघ के पदाधिकारियों ने इतने बड़े स्तर पर पहलवानों का नाम खेलो इंडिया से हटाए जाने की सूची भी जारी कर दी है और अब लॉकडाउन खुलने के बाद दोबारा से खेलो इंडिया के लिए प्रक्रिया शुरू हो सकती है। सरकार ने उन खिलाडिय़ों की प्रतिभा को उभारने के लिए खेलो इंडिया को शुरू किया है जो अच्छा खेलने के बावजूद सुविधाओं के अभाव में दम तोड़ देती है। इसमें स्कूलों के लिए राष्ट्रीय स्तर के अलावा अन्य प्लेटफार्म पर खेलने वाले खिलाडिय़ों को चुना जाता है और उनको सरकार की ओर से सभी बेहतर सुविधाओं के साथ प्रैक्टिस कराई जाती है। 
ऐसे ही देशभर के पहलवानों को खेलो इंडिया योजना के तहत चुना जाता है और उनको साई सेंटर समेत अन्य-अन्य जगहों पर बेहतर सुविधाओं के साथ प्रैक्टिस कराई जाती है। खेलो इंडिया के तहत ऐसे ही 101 पहलवानों को चुना गया था, जिनको आगे के लिए तैयार किया जा सके। इनमें हरियाणा से सबसे ज्यादा 36 पहलवान तो दिल्ली से 21 पहलवान शामिल थे, जबकि अन्य पहलवान चंडीगढ़, पंजाब, यूपी, महाराष्ट्र,केरल,राजस्थान समेत कई जगहों के शामिल थे। भारतीय कुश्ती संघ ने इन सभी से उनका विवरण मांगा,जिससे उनको सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सके। भारतीय कुश्ती संघ के कई बार विवरण मांगने के बावजूद भी नहीं दिया गया, जिससे कुश्ती संघ ने सभी का नाम खेलो इंडिया की सूची से हटा दिया। इस तरह से हरियाणा के 36 पहलवानों समेत 101 को बड़ा झटका लगा है, क्योंकि इनके पास से खेलो इंडिया के सहारे खेल को बेहतर करने का मौका अभी निकल गया है।

खेलो इंडिया के 101 पहलवानों से उनका विवरण मांगा गया था,लेकिन पहलवानों ने विवरण नहीं दिया। जिसके बाद उनका नाम सूची से हटा दिया गया है। अब लॉकडाउन के बाद पहलवान शामिल करने को लेकर ही फैसला होगा।
- विनोद तोमर
ज्वाइंट सेक्रेटरी भारतीय कुश्ती संघ

You can share this post!

Comments

Leave Comments