• 12:34 am
news-details
पंजाब-हरियाणा

जींद के निजी अस्‍पताल में चल रहा था भ्रूण हत्‍या का घिनौना खेल, 1200 रुपए में होता था सौदा

धरी गई कोख की सौदागर

जींद। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की टीम ने जींद के कुमार अस्‍पताल में छापा मारकर गर्भपात कराने वाली महिला चिकित्‍सक को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि यह चिकित्‍सक 1200 रुपए लेकर गर्भपात करती थी। महिला चिकित्सक के खिलाफ PNDT एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने महिला चिकित्सक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। जिला परिवार कल्याण के डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. पालेराम कटारिया ने बताया कि विभाग को भिवानी रोड स्थित कुमार अस्पताल की महिला डॉक्टर धीरज अत्री द्वारा अवैध तरीके से गर्भपात का काम करने की सूचना मिली थी। इसके लिए विभाग ने एक महिला को ग्राहक बनाया और उसने डॉ. धीरज अत्री से संपर्क किया। वहां पर उसने बताया कि गर्भपात करवाने पर 1200 रुपए की राशि खर्च होगी। बात होने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापमार दल का गठन किया और गर्भवती महिला को विभाग की तरफ से 1200 रुपए की नकदी लेकर अस्पताल में भेज दिया।

देर शाम को जब महिला अस्पताल में पहुंची तो डॉ. धीरज अत्री ने चेकअप करके PNDT किट से दो गोलियां निकालकर महिला को दे दी और बैड पर आराम करने के लिए कह दिया। इसी दौरान इशारा मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल में दस्तक दे दी। डॉक्टर ने काउंटर पर रखी PNDT किट को छिपाने का प्रयास किया, लेकिन विभाग की टीम ने कब्जे में ले लिया। जब महिला चिकित्सक से लाइसेंस मांगा तो वह दिखा नहीं पाई। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने महिला चिकित्सक और स्टाफ के मौके पर ही बयान दर्ज किए और पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. पालेराम कटारिया की शिकायत पर महिला चिकित्सक धीरज अत्री के खिलाफ PNDT एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

You can share this post!

Comments

Leave Comments