• 01:16 am
news-details
पंजाब-हरियाणा

मेडीकल कॉलेज के गार्डों को तीन महीनों से तनख्वा नहीं, आफताब अहमद ने उठाया मामला

 

नूंह के शहीद हसन खान मेवाती मेडिकल कॉलेज में कार्यरत सैंकड़ों गार्डों ने नूंह विधायक चौधरी आफताब अहमद से मुलाकात की और बताया कि उन्हें तीन महीनों से अधिक समय से तनख्वा नहीं मिली है जिसके कारण उन्हें हड़ताल पर मजबूरी में बैठना पड़ा है। कार्यरत गार्डों ने विधायक को बताया कि वो एसआईएस कंपनी के अधीन काम कर रहे हैं। कई दर्जन गार्डों ने चौधरी आफताब अहमद के निवास पर जाकर मदद की गुहार लगाई। मौजूद स्टाफ ने बताया कि हर बार तनखवा के लिए गार्डों को इसी तरह हड़ताल या धरना प्रदर्शन करना पड़ता है, तब जाकर उनकी मेहनत की कमाई इन्हें मिलती है।

 

नूंह विधायक व सीएलपी उप नेता चौधरी आफताब अहमद ने तुरंत मेडिकल कॉलेज के निदेशक को फोन करके मामले का संज्ञान लेने को कहा।

 

इसके बाद नूंह विधायक चौधरी आफताब अहमद ने इस मामले को ग्रेवेंस कमिटी की बैठक में सहकारिता मंत्री बनवारी लाल के समक्ष उठा दिया और कहा कि कोरोना के मुश्किल समय में भी गार्डों की तनख्वा नहीं मिलना गलत है, इनकी तनख्वा को तुरंत दिया जाए ताकि ये लोग अपने घरों की जिम्मेदारियों का निर्वाहन कर सकें। आफताब अहमद ने कहा कि कर्मचारियों के साथ ऐसा रवैया गलत है और इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है। नूंह विधायक चौधरी आफताब अहमद ने तुरंत इनकी तनख्वा देने की बात कही है।

 

इसके पश्चात डीसी मेवात ने नूंह विधायक चौधरी आफताब अहमद को अवगत कराया है कि जल्द गार्डों की तनख्वा दे दी जाएगी।

 

आफताब अहमद ने कहा कि मामले को गंभीरता व प्राथमिकता पर सुलझाया जा रहा है, उम्मीद है कि बहुत जल्द 300 गार्डों को राहत मिलेगी। अगर जल्द मामला हल नहीं हुआ तो चंडीगढ़ में भी इन कोताहियों को जोरदार तरीके से उठाया जाएगा।

You can share this post!

Comments

Leave Comments