• 01:22 am
news-details
पंजाब-हरियाणा

मुक्तेश्वर धाम बचाने के लिए रिटेनिंग वॉल का काम जल्द होगा शुरू-पुनीत पिंटा


-पंजाब ट्रेडर्स बोर्ड चेयरमैन ने डिजाइन विभाग के डायरेक्टर और चीफ इंजीनियर से चंडीगढ़ में की बैठक। 
-ड्राइंग का काम पूरा, 10 दिन में आरएसडी के कंस्ट्रक्शन विंग को मिलेगी फाइनल ड्राइंग, जल्द शुरू होगा निर्माण कार्य।  

पठानकोट
5500 वर्ष पुराने एतिहासिक मुक्तेश्वर धाम को आंच नहीं आएगी। डिजाइन विभाग ने फाइनल ड्राइंग तैयार कर ली है। 10 दिन में फाइनल ड्राइंग रणजीत सागर बांध प्रबंधन के कंस्ट्रक्शन विंग को सौंप दी जाएंगी। एक्त बात पंजाब ट्रेडर्स बोर्ड (एक्साइज एंड टेक्सेशन) चेयरमैन पुनीत सैनी पिंटा ने चंडीगढ़ में डिजाइन विभाग के अधिकारियों से की गई औपचारिक बैठक के बाद कही।

बैठक में चेयरमैन पुनीत पिंटा के अलावा चीफ इंजीनियर डिजाइन एनके जैन और डायरेक्टर डिजाइन मिस्टर सोढी शामिल थे। इस दौरान अधिकारियों ने बताया कि मुक्तेश्वर धाम बचाओ संघर्ष समिति द्वारा प्रस्तावित प्रपोजल-1 की ड्राइंग का काम पूरा हो चुका है। 8-10 दिन में यह ड्राइंग कंस्ट्रक्शन विंग को दी जाएगी। उसके बाद टैंडरिंग प्रक्रिया शुरू हो सकेगी। वहीं, चेयरमैन पुनीत सैनी पिंटा ने कहा कि डिजाइन विभाग ने काफी कम समय में अपने काम को बखूबी अंजाम दिया है। जिसके लिए वह सभी अधिकारियों के आभारी है।  बताया कि मुक्तेश्वर धाम को जाने वाले एप्रोच रोड का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। उन्होंने टैंडरिंग प्रक्रिया के बाद जल्द ही रिटेनिंग वॉल का निर्माण कार्य शुरू करवा दिया जाएगा। ताकि, बैराज निर्माण में लाखों भक्तों की आस्था के केंद्र मुक्तेश्वर धाम को कोई नुक्सान न पहुंचे। चेयरमैन पुनीत पिंटा ने बताया कि मंदिर कमेटी ने अंतरराष्ट्रीय कंपनी से प्रपोजल तैयार करवाया है, ताकि धाम की पवित्र गुफाओं के साथ-साथ उसके दूसरे धार्मिक स्थलों को भी बचाया जा सके।

इसमें श्रद्धालुओं के लिए स्नान गृह, जोड़ा घर, लंगर हाल आदि शामिल हैं। वहीं, बांध प्रशासन द्वारा बनाई प्रपोजल में केवल गुफा बचनी थी। स्नान घर, जोड़ा घर और लंगर हाल झील में समा सकते थे। चेयरमैन पुनीत पिंटा ने कहा कि पांडव काल की इन गुफाओं और बाबा मुक्तेश्वर धाम से करोड़ों लोगों की आस्था जुड़ी है। हर वर्ष लाखों लोग यहां नतमस्तक होने पहुंचते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह और चीफ इंजीनियर एनके जैन का धन्यवाद व्यक्त किया।

You can share this post!

Comments

Leave Comments