• 08:10 pm
news-details
पंजाब-हरियाणा

करनाल सीआईए-02 को बडी़ कामयाबी 10 एमटीपी किट सहित महिला गिरफ्तार,भारी मात्रा में नशीली दवाईयों का जखीरा बरामद ।

करनाल पुलिस की बडी कामयाबी 10 एमटीपी किट सहित, 28230 नशीली दवाईयों के साथ महिला को किया गिरफतार

  सीआईए-02 करनाल की टीम अपराध रोकथाम के लिए थाना रामनगर करनाल के एरिया में मौजूद थी। सीआईए 2 टीम को विश्वसनीय सूचना प्राप्त हुई कि आरोपी कमल सिक्का पुत्र धर्मबीर सिंह मकान नम्बर 328 न्यू प्रेमनगर जिला करनाल काफी समय से नशे की प्रतिबंधित दवाईयां बेचने का काम करता आ रहा है और जो आज दिल्ली से काफी मात्रा में नशे की दवाईयां, एमटीपी किट व अन्य प्रतिबंधित दवाईयां लेकर आया है और उसने कुछ दवाईयां घर पर रखी हुई हैं और बाकि दवाईयों को किसी को बेचने के लिये गया है। सूचना के आधार पर निरीक्षक श्री मोहल लाल के नेतृत्व में सीआईए-02 की टीम व ड्रग इंस्पेक्टर श्रीमती रितू मेहला द्वारा एक सयुंक्त कार्यवाही को अमल में लाते हुए उपरोक्त मकान पर रेड की गई। जंहा मौके पर आरोपी की पत्नी मौजूद मिली। जिससे सख्ती से पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान उसने बताया कि उसका पति दिल्ली से काफी मात्रा में ट्रामाडोल के कैप्सूल, अलपरा जोलम की गोलियां, लोमोटिक की गोलियां व लोरा जीपाम की गोलियां जोकि नशे के काम आती हैं और एमटीपी किट जो गर्भपात करने के काम आती है तथा अन्य प्रतिबंधित दवाईयां लेकर आया है। जो कुछ दवाईयां लेकर उन्हे डिलीवरी करने गया है। उसने बताया कि कुछ दवाईयां उसके बैड के सिरहाने के बॉक्स में रखी हुई हैं। जिस पर टीम द्वारा उक्त बैड की तलाशी ली गई। *तलाशी लेने पर उपरोक्त बैड के सिरहाने से 104 एमटीपी किट व गर्भपात के लिये प्रयोग होने वाली 13000 प्रतिबंधित गोलियां, ट्रामाडोल के कैप्सूल के कुल 45 डिब्बे प्रत्येक डिब्बे में 240 कैप्सूल कुल 10800 कैप्सूल, अलपरा जोलम गोलियों के 120 पत्ते प्रत्येक पत्ते में 10 गोलियां कुल 1200 गोलियां, लोमोटिल गोलियों के 48 पत्ते प्रत्येक पत्ते में 60 गोलियां कुल 2880 गोलियां और लोराजी पाम के 05 पत्ते प्रत्येक पत्ते में 70 गोलियां कुल 350 गोलियां (कुल 28230 प्रतिबंधित गोलियां व कैप्सूल) बरामद की गई व आरोपी की पत्नी को हिरासत में ले लिया गया।इस संबंध में थाना रामनगर में एनडीपीएस एक्ट की धारा 21सी के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।  

  दौराने तफ्तीश जांच में खुलासा हुआ कि आरोपी  दिल्ली से प्रतिबंधित दवाईयों को सस्ते दामों पर खरीकर लाने व यहां लाकर मंहगे दामों पर बेचने का धन्धा करता है और आरोपी इन प्रतिबंधित दवाईयों को दिल्ली से ट्रैन में रखकर लाया था। जांच में यह भी खुलासा हुआ कि आरोपी पहले वर्ष 2015 में भी प्रतिबंधित नशीली दवाईयों के साथ करनाल पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उस मामले में आरोपी पांच वर्ष की सजा काट कर कुछ महिने पहले ही जेल से बाहर आया था। आरोपी की पत्नी को आज अदालत में पेश करके 02 दिन के पुलिस रिमाण्ड पर लिया गया। रिमाण्ड के दौरान आरोपिया से गहनता से पूछताछ की जायेगी व फरार आरोपी कमल सिक्का को गिरफ्तार किया जाएगा ताकि प्रतिबंधित दवाईयो की सप्लाई चैन का पता लगा कर मामले का खुलासा किया जायेगा।

You can share this post!

Comments

Leave Comments