• 07:59 pm
news-details
राज्य

छत्तीसगढ़: मृत्यु भोज में शामिल होने गए 100 लोग पहुंचे अस्पताल, जानें क्या है पूरा मामला

महासमुंद, पीटीआइ। छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में एक व्यक्ति की मौत के बाद आयोजित एक अनुष्ठान में भोजन करने के बाद करीब 100 लोग बीमार हो गए है। जानकारी के अनुसार बीमार पड़वने वालों में ज्यादातर बच्चे शामिल हैं। डाक्टरों ने बताया की इन लोगों में फूड प्वाइजनिंग के लक्षण दिखाई दिए हैं। अधिकारियों ने बताया कि घटना बुधवार शाम पिथौरा विकासखंड के अंसुला गांव में हुई। इसके बाद 50 बच्चों और 10 अन्य लोगों को दो अस्पतालों में भर्ती कराया गया, जबकि अन्य लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

महासमुंद कलेक्टर डोमन सिंह ने कहा कि इन सभी लोगों ने दिलीप साहू द्वारा आयोजित 'दशगत्र' (एक व्यक्ति की मृत्यु के दसवें दिन आयोजित एक अनुष्ठान) में भोजन किया था। साहू राज्य की राजधानी रायपुर से 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अंसुला गांव के एक सरकारी प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक हैं और स्थानीय लोगों के अलावा उनके स्कूल और अन्य शैक्षणिक संस्थान के बच्चे भी इस कार्यक्रम में शामिल हुए थे।

सिंह ने बताया कि दो-तीन घंटे खाना खाने के बाद महिलाओं और बच्चों समेत करीब 100 लोगों ने बेचैनी और फूड प्वाइजनिंग जैसे लक्षणों की शिकायत की जिसके बाद उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। कलेक्टर और अन्य जिला प्रशासन और स्वास्थ्य अधिकारियों ने स्थिति का जायजा लेने के लिए अस्पतालों का दौरा किया। वहां एक मेडिकल टीम को भी गांव में भेजा गया है।

उन्होंने कहा कि 42 बच्चों और दो महिलाओं सहित 48 लोगों को पिथौरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और 12 अन्य लोगों जिनमें आठ बच्चे शामिल हैं उन्हे सकरा स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है। फिलहाल सभी की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है। अन्य लोगों को प्रारंभिक उपचार के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई।अधिकारी ने बताया कि फूड पाइजनिंग के सही कारणों का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है। पूछे जाने पर कि क्या साहू के खिलाफ इस रस्म में स्कूली बच्चों को आमंत्रित करने पर कार्रवाई की जाएगी, कलेक्टर ने कहा कि उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी से इस संबंध में विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा है।

You can share this post!

Comments

Leave Comments